info.success4ever@gmail.com
Download App

Registration (Signup)

Please Fill The Form




Recommended for you

एकादशी व्रत तिथि ...

एकादशी तिथि

हिंदू पंचांग की ग्यारहवी तिथि को एकादशी कहते हैं। यह तिथि मास में दो बार आती है। पूर्णिमा के बाद और अमावस्या के बाद। पूर्णिमा के बाद आने वाली एकादशी को कृष्ण पक्ष की एकादशी और अमावस्या के बाद आने वाली एकादशी को शुक्ल पक्ष की एकादशी कहते हैं। इन दोने प्रकार की एकादशियों का भारतीय सनातन संप्रदाय में बहुत महत्त्व है। एकादशी व्रत बहुत ही सख्त होता है। यह एकादशी तिथि से पहले सूर्यास्त से लेकर एकादशी से अगले सूर्योदय तक रखा जाता है यह करीब 48 घंटे का व्रत होता है।

साल 2018 के लिए एकादशी व्रत की सूची

12 जनवरी (शुक्रवार) षटतिला एकादशी(कृ) 
28 जनवरी (रविवार) पौशा पुत्रदा एकादशी(शु) 
11 फरवरी (रविवार) विजया एकादशी(कृ) 
26 फरवरी (सोमवार) जाया एकादशी(शु) 
13 मार्च (मंगलवार) पापमोचनी एकादशी(कृ) 
27 मार्च (मंगलवार) आमलकी एकादशी(शु) 
12 अप्रैल (गुरुवार) वरुथिनी एकादशी(कृ) 
26 अप्रैल (गुरुवार) कामदा एकादशी(शु) 
11 मई (शुक्रवार) अपरा एकादशी(कृ) 
25 मई (शुक्रवार) मोहिनी एकादशी(शु) 
10 जून (रविवार) अपरा एकादशी(कृ) 
23 जून (शनिवार) निर्जला एकादशी(शु) 
09 जुलाई (सोमवार) योगिनी एकादशी(कृ) 
23 जुलाई (सोमवार) निर्जला एकादशी(शु) 
07 अगस्त (मंगलवार) वैष्णव कामिका एकादशी(कृ) 
21 अगस्त (मंगलवार) देवशयनी एकादशी(शु) 
22 अगस्त (बुधवार) देवशयनी एकादशी(शु) 
06 सितम्बर (गुरुवार) अजा एकादशी(कृ) 
20 सितम्बर (गुरुवार) श्रवण पुत्रदा एकादशी(शु) 
05 अक्तूबर (शुक्रवार) इंदिरा एकादशी(कृ) 
20 अक्तूबर (शनिवार) परस्व एकादशी(शु) 
03 नवम्बर (शनिवार) रमा एकादशी(कृ) 
19 नवम्बर (सोमवार) पापांकुशा एकादशी(शु) 
03 दिसम्बर (सोमवार) उत्पन्न एकादशी(कृ) 
19 दिसम्बर (बुधवार) देवउत्थाना एकादशी(शु)
Read More