info.success4ever@gmail.com
Download App

Registration (Signup)

Please Fill The Form




Recommended for you

बालों की आम समस्याएं और उनके इलाज ...

बालों की आम समस्याएं और उनके इलाज

बालों की आम समस्याएं और उनके इलाज – डेंड्रफ (रूसी) सिर की त्वचा की फालतू कोशिकाएं पपड़ियों के रूप में निकलती हैं तो इस अवस्था को डेंड्रफ  कहा जाता है और इसके कई कारण हो सकते हैं। यह सिर की सूखी या चिपचिपी त्वचा दोनों में ही आनुवंशिक, पर्यावरण या आहार किसी भी कारण से हो सकती है।

सिर की सूखी त्वचा में या आहार में प्रोटीन की कमी से हो सकती है। सिर की चिपचिपी त्वचा में सीबम या ‘प्राकृतिक तेल’  के अधिक उत्पादन के कारण पपड़ियां पैदा हो सकती हैं। दरअसल डेंड्रफ  भी त्वचा ही है जो सिर की त्वचा से पपड़ियों के रूप में निकलती है, किंतु किसी वजह से इसका झड़ना बढ़ जाता है। अगर इसका इलाज नहीं किया जाए तो बालों  से यह चेहरे तक भी बढ़ सकती  है। डेंड्रफ  काफ़ी बढ़ जाने से (जिसमें बाल भी झड़ सकते हैं) उसका फौरन इलाज करने की ज़रूरत है। इस सूरत में किसी Trichologist (केश विशेषज्ञ) को दिखाएं। 

सिर की रूखी त्वचा में डैंड्रफ़ आजमाएं ये घरेलू उपाय

जब हम अच्छी सेहत की बात करते हैं, तब हमारे सिर में भी किसी प्रकार की समस्या नहीं होनी चाहिए। लेकिन बालों में डैंड्रफ़ यानी कि रूसी होना एक आम समस्या हो गई है। यह सिर की त्वचा के रूखेपन के कारण होती है और अन्य कई समस्याओं को जन्म देती है। आइए हम आपको खराब दिखने वाले डैंड्रफ़ के छुटकारा दिलाने के कुछ सटीक घरेलू उपाय बताते हैं-

  1. बालों को स्वस्थ रखने और समस्याओं से बचने के लिए तेल की मसाज बेहद आवश्यक है। बालों में तेल न लगाने के कारण त्वचा रूखी होती है, जिससे रूसी की समस्या होती है। इससे बचने के लिए आप नारियल तेल, बादाम तेल या फिर जैतून के तेल की मालिश कर सकते हैं। मालिश के लिए हल्के गुनगुने तेल का इस्तेमाल करना बेहतर होता है।
  2. रूसी से निपटने के लिए नींबू के रस में शहद मिलाकर बालों पर लगाने से फायदा होता है। नींबू में प्राकृतिक अम्ल होता है जो रूसी को आसानी से खत्म कर देता है और शहद रूखापन दूर करने में मदद करता है। इसमें किसी तेल को मिलाकर भी सिर की त्वचा पर लगाया जा सकता है।
  3. सि‍र की त्वचा से रूखापन हटाने के लिए जैतून का तेल बेहद लाभप्रद होता है। यह आश्चर्यजनक रूप से सूखे और रूसी वाले बालों के लिए फायदेमंद होता है। शहद के साथ भी इसका प्रयोग किया जा सकता है। शहद में संक्रमण विरोधी के साथ सूजन विरोधी गुण भी पाया जाता है।
  4. सिरका आपके बालों को रूखेपन से बचाने में मदद करता है और आपके सिर से रूसी की परत हटाता है। आप सिरके से अपने बालों पर मालिश करें और 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद शैंपू से बालों को धो लें, रूखापन कम हो जाएगा।
  5. दही में भी प्राकृतिक रूप से अम्ल होता है, जो रूसी को खत्म कर रूखापन खत्म करने में मदद करता है। इसके लिए दही में बेसन या शहद को मिलाकर अपने सिर की त्वचा पर आधा घंटा लगाकर रखें और शैंपू से धो लें। दही के साथ अंडे का सफेद हिस्सा भी बालों में लगाया जाता है। इस प्रयोग से रूसी की समस्या समाप्त हो जाएगी। 

दो मुंहे बालों की रोकथाम के लिए सुझाव

लम्बे बालो की इच्छा बहुत सारी महिलाओ की चाह होती है पर सही ढंग से बालो की गौर न करने के कारण अक्सर दो मुंहे बालो (split end hair) की समस्या से दो चार होना पड़ता है ! दो मुंहे बालों के कारण न केवल आपके बालो की खूबसूरती में एक दाग लगता है  बल्कि दो मुंहे बालो की वजह से ज्यादा लम्बे बाल बनाए रखना भी मुश्किल हो जाता है ! लेकिन समय रहते बालो की ठीक से देखभाल की जाये तो दो मुंहे बालों से छुटकारा मिल सकता है !

दो मुंहे बालों की समस्या से बालों की खूबसूरती खत्म न हो जाए इसके लिए कुछ बातों का ख्याल रखा जा सकता है।

  • सबसे जरुरी बात अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में Protein युक्त चीजे ले जैसे – सूखे मेवे, बादाम अखरोट, सोया मिल्क, कद्दू के बीज, मूंगफली, बादाम, अंकुरित दालें, दूध, पनीर आदि और कोशिश करे कि हमेशा संतुलित आहार ही ले क्योंकि बालों और चेहरे की खूबसूरती में वही झलकता है, जो आपके आहार में मौजूद होता है।
  • हफ्ते में कम-से-कम दो बार बालों की अच्छी तरह से तेल की मालिश करे और फिर hair Steam देकर उन्हें प्रकृति के अनुरूप शेंपू से धो दें।
  • दो-मुंहे बालों से छुटकारा पाने के लिए बालों को सदैव धीरे-धीरे सुलझाएं। इससे बाल नीचे के सिरों से फटते नहीं हैं। बीच-बीच में गरम पानी से भाप लेती रहें।
  • सप्ताह में एक बार ट्रिमिंग करवाती रहें जिससे बाल दो-मुंहे न होने पाएं।
  • यदि सारे या कुछ बाल दोमुंहे हो गए हों, तो प्रात: अमरूद के ताजे पत्तों को पानी में उबालकर उसके काढ़े से बालों को प्रतिदिन धोएं।
  • दोपहर को नीम के ताजे पत्तों को पानी में उबालकर उसके काढ़े से बालों को प्रतिदिन धोएं। 
  • शाम को बालों में नियमित रूप से आंवला Amla या नारियल तेल और थोड़ा-सा पानी मिलाकर बालों की जड़ों में मालिश करें |
  • गीले बालों में कर्घी न करें।
  • जितना हो सके, बाल खुला न छोड़ें। बालों की धूल, धूप और धुएं आदि से बचाएं। किसी अच्छे कॉस्मेटिक क्लिनिक में बॉयोट्रान व ओजोन की सिटिंग लें |
  • हर बार बाल ‘धोने के बाद उन्हें कंडीशनिंग देना न भूलें। इनसे बालों पर एक हल्की नरम परत चढ़ जाती है, जो बालों को तो नरम और चमकीला बनाती है तथा धूल मिटटी से भी सुरक्षा कवच का काम करती है।
  • इसके अलावा conditioner का इस्तेमाल उस वक्त और भी ज्यादा जरूरी हो जाता है जब बालों में किसी भी तरह का केमिकल ट्रीटमेंट लिया गया हो, यानी उनमें Hair colouring, hair Perming, straightening आदि करवाई गई हो । इन सब टिप्स को ध्यान में रख कर आप दो मुंहे बालों से बच सकते है !
  • अपने बालों को अधिक तापमान से बचाएं। उलटी कंघी न करे, रबर बैंड भी न लगाये।  गीले बालों पर ब्रश या कंघी न करें ।
  • हर पांच या छह हफ्ते बाद सैलून जाकर दो मुंहे बालों को कतरवा लें।
Read More